Romantic Shayari तुम हो तो हासिल है दुनिया जहाँ की ख़ुशी

ROMANTIC SHAYARI तुम हो तो हासिल है दुनिया जहाँ की ख़ुशी


Romantic Shayari
तुम हो तो हासिल है दुनिया जहाँ की ख़ुशी
तेरे होने से मेरे होंटो पे आ पाती है हंसी
******
तू है साथी मेरी, तू सहारा मेरा
तू जीने की लहर, तू किनारा मेरा
******
तेरे होना लगे जैसे नहीं कोई कमी
तू है इन आँखों में जब से नहीं कोई नमी
******
तू मेरी चाहत,तू ही अंजाम है
तू मेरी आरज़ू, तू ही मुकाम है
******
मैं रब से दुआ में, बस मांगू तुझे
तेरी इबादत हमेशा को, हासिल हो मुझे
******
तुम हो तो हासिल है दुनिया जहाँ की ख़ुशी
तेरे होने से मेरे होंटो पे आ पाती है हंसी
************


? ? ? ? ? ? ? ? ? ? ? ? ? ? ?? ? ?


ROMANTIC SHAYARI TUM HO TO HAASIL HAI DUNIYA JAHAN KI KHUSHI

Tum ho to haasil hai duniya jahan ki khushi
tere hone se mere honto pe aa pati hai hansi
******
tu hai sathi meri, tu sahara mera
tu jeene ki leher, tu kinara mera
******
tere hona lage jaise nahi koi kami
tu hai in ankhon me jab se nai koi nami
******
tu meri chahat, tu hi anjaam hai
tu meri arzoo, tu hi mukaam hai
******
mai rab se dua me, bas maangu tujhe
teri ibadat hamesha ko, hasil ho mujhe
******
Tum ho to haasil hai duniya jahan ki khushi
tere hone se mere honto pe aa pati hai hansi
************


Search for hindi shayari, latest shayari, best shayari, romantic shayari, all type of shayari are collected here, click on this ♦ Diamond In Heart ♥ and enjoy 🙂

Sad Shayari तेरी चाहत के आंसू ने

तेरी चाहत के आंसू ने……


तेरी चाहत के आंसू ने मेरे तकिये को भिगोया है
तेरी आशिकी में पागल दिल न जाने कितना रोया है
******
हमें अब भी वो गुजरे पल रातों को सोने नहीं देते
ये वादे प्यार के अब भी मुझे पलके भिगोने नहीं देते
ये गम तेरी जुदाई का हमसे तो सहा नहीं जाता
बिना तुझको किया याद पल भर रहा नहीं जाता
तेरी उल्फत में हर लम्हा, हर एक मंज़र संजोया है
तेरे चाहत में….
******
मुझे शिकायत नहीं तुझसे के हमे तुम याद नहीं करते
छिड़कते थे हर बात पर जान वो मेरी बात नहीं करते
ज़माना है बदलता है, तुम भी बदल गए हो
बहारों की फ़िज़ाओं में, तुम भी मचल गए हो
तेरे एहसास के सौगात में, हमने ये जीवन पिरोया है
तेरे चाहत में…….
******
किस्मत में तुम नहीं थे, तो खुदा ने क्यों हमें मिलाया था
देखे थे ख्वाब कुछ तुमने, मैंने भी एक सपना सजाया था
ना सपना रहा और ना स्वरुप कोई यहाँ
बस दर्द ही है बाकी अब तो दिल में रहा
जिस तिनके का सहारा था, उसी ने हमें डुबोया है
तेरी चाहत के आंसू………
तेरी चाहत के आंसू ने मेरे तकिये को भिगोया है
******