Sad Shayari मैंने जीना सीख लिया था

SAD SHAYARI मैंने जीना सीख लिया था


मैंने जीना सीख लिया था, ग़म को पीना सीख लिया था
आंसू को मुस्कान बना के, मैंने लबों को सीना सीख लिया था
******
वो लम्हों की सौगातें, मुझको न सोने देती थी रातो को
कैसे भूलूं मै उस पल को, जब मैंने छुआ था तेरे हाथों को
******
तेरे आग़ोश में आते ही जैसे, मेरा सार संसार बदल गया था
वक्त ने रुख कुछ यूँ बदला, मै उन बातो से निकल गया था ,
आंसू को मुस्कान बना के,  मैंने लबों को सीना सीख लिया था

Sad Shayari मैंने जीना सीख लिया था
*******
तेरी हर एक मुस्कान में, जैसे मोती बरसते लगते थे
तेरे रूप का दर्शन पाने, दुनिया जहां के लोग तरसते थे
******
एक अजब सा अपनापन था तुझमे,  मै रंग में तेरे ढल गया था
किरनो से फिर रंग जो निखारा, लगा तू जैसे बदल गया था
आंसू को मुस्कान बना के, मैंने लबों को सीना सीख लिया था
******

सब कुछ हमें तुमसे मिला

जीवन के हर मोड़ में साथी है तू


तुझसे जुदा या तुझसे जुड़ा, जो भी है सब तुझसे मिला
तेरा गुस्सा, तेरी अदाएं, सब कुछ हमें तुमसे मिला
۩ϪϪϪϪϪ۩
तेरा दामन तेरी ख़ुशी, तेरा शिकवा और तेरा ही गिला
मेरी खुशिया और मेरी दुनिया, तेरी चाहतों का है सिला
۩ϪϪϪϪϪ۩
तेरी कस्मे तेरे वादे, तुझसे जुड़ी हर सौगातें
तेरा रूठना तेरा मानना, तुझसे जुड़ी हर मुलाकातें
۩ϪϪϪϪϪ۩
तेरा रोना तेरा मुस्कुराना, तेरी वो भोली बातें
तेरे साथ में गुज़रे दिन, और तेरी याद में कितनी रातें
۩ϪϪϪϪϪ۩
सफर भी तेरा मंज़िल भी तू, तू ही साहिल दरिया भी तू
मेरे अंधियारे जीवन का मानो अनोखा सेहर भी तू
۩ϪϪϪϪϪ۩
ख़ामोशी भी तू, ये शोर भी तू, अब तो मेरे हर दौर में शामिल है तू
तू लम्बे सीधे रास्तो में, अब जीवन के हर मोड़ में साथी है तू
۩ϪϪϪϪϪ۩
तुझसे जुदा या तुझसे जुड़ा, जो भी है सब तुझसे मिला
तेरा गुस्सा, तेरी अदाएं, सब कुछ हमें तुमसे मिला
۩ϪϪϪϪϪ۩